यमुना एक्सप्रेस वे पर पूरे परिवार से दरिंदगी, माँ जैसी हूँ फिर...

यमुना एक्सप्रेस वे पर पूरे परिवार से दरिंदगी, माँ जैसी हूँ फिर भी नही बख्शा

245
0
SHARE

एक परिवार नेशनल हाईवे 91 से होते हुए सबौता गाँव से गुजर रहा था, साथमे 3 पुरुष और 4 महिलाए थी जिनमे तीन जवान और एक 50 वर्षीय अधोवृद्ध महिला और गुजरते गुजरते बीचमे कीले लगने से वैन पंचर हो गयी जैसे ही वैन रूकी कुछ बदमाश आये और वैन को घेर लिया पुरुषो को घिसट घिसट का पीटने लगे उन्हें लहू लुहान कर दिया फिर इसके बाद उनकी नजर गाडी में बैठी महिलाओं पर पडी तो उन्हें बड़ी ही बेरहमी से खींचकर के बाहर निकाला

और खींचकर के पास के खेतो में ले गये और उनके सारे कपडे निकाल दिए, उन कपड़ो से उनके परिवार के पुरुषो को बांधकर पटक दिया और सभी महिलाओं को खींचकर के पास के ही खेतो में ले गये तभी बूढी औरत बोली मैं तो तुम्हारी माँ जैसी हूँ

 

लेकिन इसके बाद भी वो लोग बाज नही आये न ही उनका दिल पसीजा, घंटो तक उनका रेप करते रहे और जब एक पुरुष ने उनका विरोध करने की कोशिश की तो उसे रॉड से पीटा और गोली मार दी, पूरा परिवार रात भर हाईवे पर रो रहा था चीत्कार रहा था लेकिन कोई भी सुनने वाला नही, इसके बाद उन्होंने उनके पास मौजूद लगभग 48 हजार रूपये नकद और सारे जेवरात लूट लिये और वहां से फरार हो गये अगले ही दिन पुलिस के पास पहुंचकर पूरे परिवार ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है

पुलिस मामले की संगीनता और गहनता को समझ गयी है और जल्द से जल्द आरोपियों की तलाश में जुट गयी है और ऐसे लोगो को मृत्युदंड देने से बेहतर है इनके प्राइवेट पार्ट काटकर इन्हें बंधक बनाकर रखा जाए ताकि जब तक ऐसे लोग जिए इन्हें अपराधबोध होता रहे और जब तक ऐसा नही होगा तब तक इन्हें अपराध बोध नही होगा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY